प्रेशर गेज(Pressure Gauge)

प्रेशर गेज(Pressure Gauge)

प्रेशर गेज(Pressure Gauge),दबाव नापने का उपकरण है,जो इसके sensing element में applied दबाव को मापता है और संकेत करता है। Sensing Element like बोरडॉन ट्यूब, bellows, डायाफ्राम और कैप्सूल आदि।

pressure-gauge

कार्य सिद्धांत / Working Principle in hindi

प्रेशर गेज(Pressure Gauge) का कार्य सिद्धांत हुक के नियम पर आधारित है, हुक के नियम के अनुसार “प्रत्यास्थता सीमा के भीतर किसी वस्तु पर आरोपित प्रतिबल का मान हमेशा उस वस्तु में उत्पन्न विकृति के अनुक्रमानुपाती होता है , इसे ही हूक का नियम कहते है। ” … अर्थात प्रत्यास्थता सीमा के अन्दर प्रतिबल , विकृति के समानुपाती होता है।

pressure gauge cut model

 जब दबाव लगाया जाता है, तो अण्डाकार ट्यूब (बोरडॉन ट्यूब) एक circular cross section  में जाने की कोशिश करती है । इस वजह से, तनाव विकसित होता है और ट्यूब सीधा होने की कोशिश करता है। इस प्रकार ट्यूब का मुक्त सिरा ऊपर उठता है और movement दबाव के परिमाण पर निर्भर करता है। एक movement और संकेत करने वाला तंत्र मुक्त छोर पर लगा है जो सूचक को घुमाता है और दबाव को दर्शाता है। आमतौर पर इस्तेमाल की जाने वाली सामग्री फॉस्फोर ब्रोंज, ब्रास और बेरिलियम कॉपर हैं। सी-ट्यूब के 2” सामान्य व्यास के लिए free end की travel लगभग 1/8 ″ है। हालांकि सी-टाइप ट्यूब सबसे common हैं, ट्यूबों के अन्य आकार, जैसे – helical, twisted or spiral tubes इसके अतिरिक्त उपयोग में हैं।

Material: -

प्रेशर गेज में प्रयुक्त प्राइमरी सेंसिंग एलिमेंट को, उसकी रेंज ,प्रोसेस पैरामीटर के आधार पे अलग अलग मटेरिअल का पयोग किया जाता है जो Phosphor Bronze, Brass and Beryllium Copper.

Range:-

0 to 600 bar

Digital Pressure gauge in hindi

digital pressure gauge

डिजिटल दबाव गेज इन दिनों आम तौर पर उपयोग किए जाते हैं। डिजिटल दबाव गेज के मामले में, एसी और डीसी बिजली की आपूर्ति एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। स्विचिंग सर्किट या एसी को डीसी में परिवर्तित किया जाता है। मापा दबाव सेंसर डायाफ्राम को प्रेषित किया जाता है जो दबाव को महसूस करता है, जिसके आधार पर {इलेक्ट्रिकल} सिग्नल पीसी या स्मार्टफोन तक पहुंचने के लिए उत्पन्न होता है। इन गेजों में एक छोटा एलसीडी डिस्प्ले शामिल है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *