Double acting cylinder in hindi | डबल एक्टिंग सिलेंडर

Introduction- 

एक डबल एक्टिंग सिलेंडर ऐसा सिलेंडर उपकरण है जिसमें normally सिलेंडर में enclosed पिस्टन को push करने या pull करने के लिए pneumatic या fluid pressure apply करने के लिए कनेक्शन के लिए दो signal port होते हैं। डबल एक्टिंग सिलेंडर पिस्टन के दोनों ends पर alternate cycles of pressurized air or fluid के आधार पर काम करता है जो पिस्टन रॉड को स्थानांतरित करने के लिए extend forces और retract forces apply करता है यानी movement को push या pull करने को permit देता है। इस प्रकार spring को अपनी मूल स्थिति में वापस जाने की कोई आवश्यकता नहीं है। एक विशिष्ट डबल एक्टिंग सिलेंडर diagram नीचे दिखाया गया है-

Read the article in English

Double acting cylinder structure

Double acting cylinder symbol-

विभिन्न configurations के डबल एक्टिंग सिलेंडर symbol नीचे दिखाया गया है-

Double acting cylinder symbol

Double acting cylinder application-

  • Double acting pneumatic cylinder
  • Double acting hydraulic cylinder
  • Double acting actuator
  • Double acting solenoid valve
  • Double acting reciprocating pump
  • Double acting compressor, etc.

Double acting pneumatic cylinder-

जब एक डबल एक्टिंग सिलेंडर अपने संचालन के लिए compressed air या gas की supply का उपयोग करता है या ये कह सकते है जब सिलेंडर pneumatic supply द्वारा संचालित होता है, तो इसे double acting pneumatic cylinder कहा जाता है। उनका उपयोग एक linear या straight line पथ में load को स्थानांतरित करने के लिए किया जाता है और इनका application वहां होता है जहां मशीन को एक से अधिक गति की आवश्यकता होती है। pneumatic systems अपने संचालन के लिए (80 से 100) PSI के वायु दाब का उपयोग करती हैं। एक port पर  compressed air को apply करने पर  पिस्टन को आगे (push) और दूसरे port में compressed air apply करने  पर सिलेंडर में पिस्टन वापस (pull करने) में सक्षम बनाती है। double acting pneumatic cylinder का चित्र नीचे दिखाया गया है-

Double acting pneumatic cylinderDouble acting hydraulic cylinder-

जब एक डबल एक्टिंग सिलेंडर अपने संचालन के लिए fluid pressure (ज्यादातर oil) का उपयोग करता है या ये कह सकते है जब सिलेंडर hydraulic pressure द्वारा संचालित होता है, तो इसे double acting hydraulic cylinder कहा जाता है। हाइड्रोलिक सिलेंडरों का उपयोग large force और heavy load applications के लिए किया जाता है क्योंकि आमतौर पर hydraulic pressure 400 bar (6000 PSI) तक हो सकता है। double acting hydraulic cylinder की working pneumatic cylinder के समान ही होती है। यहां, एक port के माध्यम से प्रवेश करने वाला compressed fluid पिस्टन को आगे (push) और दूसरे port में प्रवेश करने वाले fluid को सिलेंडर में पिस्टन को वापस (pull करने) में प्रवेश करने में सक्षम बनाता है। डबल एक्टिंग वाले हाइड्रोलिक सिलेंडर का diagram नीचे दिखाया गया है-

Double acting hydraulic cylinder

Double acting actuator-

For application as double acting actuator, cylinder actuator पिस्टन रॉड को straight line में स्थानांतरित करने के लिए pneumatic या हाइड्रोलिक supply का उपयोग करते हैं जो एक control valve, guide vane or damper आदि से connect होता है। उनके संचालन के लिए, डबल एक्ट्यूएटर में, वाल्व को संचालित करने या open करने के लिए एक इनलेट पर control pressure apply किया जाता है। जबकि एक्ट्यूएटर के दूसरे port, control pressure apply करने पर वाल्व को close करने में सक्षम बनाता है।

Double acting solenoid valve-

solenoid valve electrically operated वाल्व है जो control valve, emergency shutdown valve के On-off application के लिए electric supply का उपयोग करता है। Normally  इसके center में एक movable ferromagnetic core (plunger) के साथ electric coil होता है। डबल एक्टिंग solenoid valve में, दो separate coils को energize करने के लिए 2 electric supply की आवश्यकता होती है। एक समय पर , 1 coil वैकल्पिक रूप से केवल एक दिशा में प्लंजर को स्थानांतरित करने के लिए सक्रिय होती हैं। जब coil 1 पर electric वोल्टेज apply किया जाता है, तो एक चुंबकीय क्षेत्र बन जाता है, और यह plunger को ऊपर की ओर बढ़ने के लिए force करता है और fluid material को pass करने के लिए orifice के एक सेट को open करने में सक्षम बनाता है और orifice का दूसरा सेट की fluid material को रोकने के लिए closing करता  है। जब coil 2 पर electric वोल्टेज लगाया जाता है, तो उत्पन्न चुंबकीय क्षेत्र plunger को नीचे की ओर जाने के लिए मजबूर करता है और fluid material को orifice के पहले सेट को बंद करने के लिए और orifice का दूसरा सेट से fluid material को pass करने के लिए सक्षम बनाता है | इस प्रकार इसके  operation में कोई spring की आवस्यकता नहीं है। एक डबल एक्टिंग solenoid valve नीचे दिखाया गया है-

Double acting solenoid valve

 

Double acting reciprocating pump-

double acting reciprocating pump में, पिस्टन के दोनों side, fluid material या water को pass करने में use किये जाते है इसलिए, इसमे दो suction piping और दो delivery piping होती है। एक double acting reciprocating pump जैसा कि निम्नलिखित figure में दिखाया गया है-

Double acting reciprocating pump

जब पिस्टन के एक तरफ suction stroke होगा, उसी समय पिस्टन के दूसरी तरफ delivery stroke होगा। इसलिए, इस मामले में, crank की एक full cycle movement के लिए दो suction stroke और दो delivery stroke होंगे और इन दो delivery stroke के दौरान delivery पाइप के माध्यम से fluid या water छोड़ा जाएगा।

Double acting compressor-

एक डबल-एक्टिंग कंप्रेसर को positive displacement compressor के रूप में भी जाना जाता है और यह reciprocating compressor category के अंतर्गत आता है। यहां double-acting compressor में भी  air या gas suction और compress करने के लिए पिस्टन के दोनों sides का उपयोग करता है। इनलेट और आउटलेट वाल्व का  खोलना और बंद करना stroke या पिस्टन movement के अनुसार होता है। डबल एक्टिंग कंप्रेसर की working  सिंगल-एक्टिंग कंप्रेसर से थोड़ा अलग होती है। सिंगल-एक्टिंग कंप्रेसर में, पिस्टन का केवल एक side ही work करता है। डबल एक्टिंग कंप्रेसर की कार्यप्रणाली को दर्शाने वाला चित्र नीचे दिखाया गया है-

Double acting compressor

अन्य related हिंदी articles के बारे में पढने के लिए नीचे links पर click करे-

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *